money-stolen-from-bank

खाते से किसी ने धोखे से निकाला पैसे तो अब घबराने की जरूरत नहीं, ऐसे आ जाएगा वापस

टैकनोलजी ब्रेकिंग न्यूज़ व्यापार

एक तरफ सरकार और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (Reserve Bank of India) आपसे डिजिटल लेन देन की वकालत कर रहे हैं, दूसरी ओर इन दिनों डिजिटल फ्रॉड (Digital fraud) के मामलों में भी इजाफा हो रहा है. लेकिन बैंकिंग धोखाधड़ी से आपको घबराने की जरूरत नहीं है. अब अगर आपके बैंक खाते से किसी ने धोखे से पैसे निकाल लिए तो बड़ी आसानी से इसे वापस पाया जा सकता है. अपनाएं ये तरीका…

भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) ने इसका तरीका बताया है. रिजर्व बैंक का कहना है कि अगर कोई भी अनधिकृत लेन-देन होता है तो उसके बाद भी आपका पूरा पैसा वापस मिल सकता है. इसके लिए सतर्कता जरूरी है. RBI कहता है कि ऐसे किसी भी ट्रांजेक्शन की जानकारी तुरंत देकर आप नुकसान से बच सकते हैं.

इसलिए मिलते हैं आपके पैसे वापस 
जानकारों का कहना है कि बैंकों की तरफ से साइबर फ्रॉड के मद्देनजर इंश्योरेंस पॉलिसी ली जाती है. बैंक आपके साथ हुए फ्रॉड की सारी जानकारी सीधे इंश्योरेंस कंपनी को बताएगा और वहां से इंश्योरेंस के पैसे लेकर आपके नुकसान की भरपाई करेगा. साइबर फ्रॉड से बचने के लिए इंश्योरेंस कंपनियां भी लोगों को सीधे कवरेज दे रही हैं.

फ्रॉड होने के 3 दिन में करें शिकायत
अगर आपके बैंक खाते से कोई गलत तरीके से रकम निकाल लेता है और आप तीन दिन के अंदर इस मामले के बारे में बैंक को शिकायत करते हैं तो आपको यह नुकसान नहीं उठाना पड़ेगा. RBI ने यह भी कहा है कि निर्धारित समय में बैंक को सूचना दे देने पर ग्राहक के खाते से धोखाधड़ी कर निकाली गई रकम 10 दिन के अंदर उसके बैंक खाते में वापस आ जाएगी. आरबीआई ने यह भी कहा है कि अगर बैंक खाते से हुई धोखाधड़ी की रिपोर्ट 4-7 दिन बाद की जाती है, तो ग्राहक को 25,000 रुपये तक का नुकसान खुद उठाना होगा.

Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *