हॉकी हरियाणा उपाध्यक्ष के आरोप:हॉकी संघ का प्रधान नहीं बनाया, इसलिए खेल मंत्री नहीं दे रहे एस्ट्राे टर्फ की मंजूरी

सोनीपत

हरियाणा में हॉकी के वर्चस्व को लेकर खींचतान अब उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है। राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में अव्यवस्था एवं खिलाड़ियों से पैसे मांगने के विवाद के बाद अब हॉकी हरियाणा के उपाध्यक्ष सुनील मलिक ने खुलकर संदीप सिंह पर निशाना साधा। उन्होंने आरोप लगाया कि खेल मंत्री हॉकी हरियाणा के अध्यक्ष बनना चाहते थे, लेकिन नियमानुसार ऐसा संभव ही नहीं था। जिसके बाद से वे हॉकी को समर्थन देने के बजाए नुकसान पहुंचा रहे हैं।

बार-बार अपील के बावजूद मैदान उपलब्ध नहीं करवा रहे हैं। हॉकी हरियाणा पर प्रशासक लगाया जा रहा है। इस मामले में हॉकी इंडिया को भी पत्र लिखा है। राष्ट्रीय प्रतियोगिता का आयोजन नरवाना में 17 से 28 मार्च तक करवाना प्रस्तावित है।

इस मुद्दे पर भारतीय टीम के पूर्व सहायक कोच संदीप सांगवान, हिसार में हॉकी कोच आजाद सिंह एवं कुलदीप सिवाच ने भी सरकार से सकारात्मक भूमिका निभाने की अपील की है। यह मामला हॉकी इंडिया से लेकर भारतीय ओलंपिक संघ तक पहुंच गया है।

जिसका बड़ा असर हरियाणा को मिली नेशनल जूनियर चैंपियनशिप की मेजबानी पर पड़ता हुआ नजर आ रहा है। हॉकी हरियाणा को नेशनल के लिए अब तक मैदान नहीं मिल सका है, जिसका दोष अब प्रदेश के खेल मंत्री एवं हॉकी में ओलंपियन संदीप सिंह को दिया जा है।

भारतीय ओलिंपिक संघ के प्रधान भी बोले- खेल मंत्री का नकारात्मक और असहयोगात्मक रवैया हॉकी के लिए सही नहीं

एस्ट्रो टर्फ नहीं मिलने का खामियाजा भुगत रहे राज्य के खिलाड़ी : समय पर एस्ट्रो टर्फ नहीं मिलने का खामियाजा प्रदेश के हॉकी खिलाड़ी उठा रहे हैँ। क्योंकि मौजूदा स्टेट हॉकी चैँपियनशिप ऐसे मैदान पर हो रही है जहां गोल पोस्ट के पास धूल उड़ती रहती है और मैदान जगह-जगह से असमतल है, जिस कारण गेंद पर नियंत्रण में दिक्कतें हैं, हमेशा चोट लगने की आशंका रहती है।

Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *