traffic-jam

शहर के सभी रास्तों पर घंटों लगा जाम

सोनीपत

 सोनीपत : दिल्ली की ओर कूचकर रहे किसानों के काफिलों ने अब शहर की ओर भी रुख करना शुरू कर दिया है। शहर के ज्यादातर प्रवेश मार्गों पर किसानों के ट्रैक्टर-ट्राली आ गए हैं। इससे शहर के अंदर भी लोगों को लंबे जाम का सामना करना पड़ रहा है। वहीं शादी समारोह और गुरु नानक जयंती के कारण सड़कों पर वाहनों की संख्या बढ़ गई। सोमवार को दिनभर शहर में जाम के हालात रहे। वाहन लंबे जाम में फंस गए। ऐसे में शहर के सील होने की आशंका बनती जा रही है। ऐसे में पुलिस-प्रशासन सतर्क हो गया है।

हाईवे और दिल्ली की ओर जाने वाले रास्तों के साथ ही जाम का झाम अब शहर तक पहुंच गया है। सोमवार को दोपहर 12 बजे से शाम तक जाम लगा रहा। प्रदर्शन के लिए दिल्ली की ओर जा रहे किसानों ने अब सोनीपत के संपर्क मार्गों का रुख किया है। बहालगढ़ से शुरू होकर किसानों के ट्रैक्टरों का काफिला स्वामी विवेकानंद चौक तक पहुंच गया है। इस तरह किसानों ने नरेला से आइटीआइ चौक तक अपने ट्रैक्टर-ट्राली खड़े कर दिए हैं। यही हाल मुरथल रोड और कामी रोड का भी है।

किसानों के जमावड़े के साथ ही शहर में वाहनों का दबाव बढ़ गया है। जीटी रोड के जाम से बचने के लिए भी कई वाहन शहर से होकर निकल रहे हैं। इसके साथ ही शादी-विवाह का सीजन होने से लोगों का आवागमन बढ़ गया है। इससे शहर में वाहनों का लंबा जाम लग गया। लोगों ने अपने वाहनों को सड़कों पर ही पार्क करना शुरू कर दिया। इससे बाजारों में भीड़ बढ़ गई। शहर के ज्यादातर मार्गों और बाजारों में लोगों को घंटों तक जाम में फंसे रहना पड़ा। पुलिस के ज्यादातर जवानों की ड्यूटी हाईवे पर लगी होने के चलते जाम खुलवाने के लिए भी पर्याप्त पुलिसकर्मी उपलब्ध नहीं थे। हाईवे और शहर की लिक रोड पर वाहनों का दबाव बढ़ने से शहर के सील होने की आशंका बढ़ती जा रही है। लोगों को बहालगढ़ मोड़ को पार करने में ही एक घंटे से ज्यादा का समय लग गया है।

वाहनों का दबाव बढ़ने से शहर में दिन में जाम के हालात उत्पन्न हो गए थे। मौजूदा हालात को लेकर हम सतर्क हैं। शहर में जहां जाम न लगने की रणनीति तैयार की गई है। वहीं शहर के संपर्क मार्गों पर टैक्ट्रर-ट्रालियों को पार्क न होने देने की तैयारी है। इससे सामान्य आवागमन संचालित होता रहेगा।

– रमेश कुमार सिंह, प्रभारी निरीक्षक, यातायात

दिल्ली आने-जाने वाले मार्गों पर वाहनों का दबाव बढ़ा

जीटी रोड बंद होने के कारण सोमवार को अधिकतर वाहन निर्माणाधीन सोनीपत-सफियाबाद-नरेला फोरलेन मार्ग पर आ गए। इससे यह मार्ग भी बंद हो गया। इस मार्ग पर किसानों के ट्रैक्टर-ट्रालियों की संख्या बढ़ने के बाद घंटों जाम के बाद यह मार्ग भी बंद हो गया। इसके अलावा सोनीपत से रोहट-नाहरा-नाहरी-नरेला मार्ग पर वाहनों का दबाव बढ़ने से सुबह-शाम घंटों जाम लगा रहा। दिल्ली जाने और आने के लिए लोग अब इन दोनों मार्गों का इस्तेमाल कर रहे हैं।

औचंदी बार्डर पर भी वाहनों का जमावड़ा

औचंदी बार्डर पर वाहनों का दबाव बढ़ गया है। हालांकि दिल्ली और हरियाणा पुलिस ने बार्डर पर लगाए नाकों पर पुलिसकर्मियों की संख्या बढ़ा दी है। इसके साथ ही पुलिस वाहनों को केएमपी के रास्ते पर भी डायवर्ट कर रही है। वहीं ट्रकों के इस रास्ते से होकर गुजरने के दौरान टोल की पर्ची लेने के लिए रुकने के कारण जाम की स्थिति भी रह-रह कर बन रही है।

Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *