even after the order more than 50 private schools opened in the district now the education department will give notice

आदेश के बाद भी जिले में खुले 50 से ज्यादा निजी स्कूल, अब शिक्षा विभाग देगा नोटिस

ब्रेकिंग न्यूज़ राजनीति शिक्षा सोनीपत

कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार ने पहली से आठवीं के लिए अवकाश की घोषणा की है, लेकिन कई स्कूल इसे लेकर गंभीर नहीं हैं। सोमवार को क्षेत्र में करीब 50 से ज्यादा निजी स्कूल खुले। विभाग को भी इस बाबत शिकायतें पहुंची। निर्देशों के विरुद्ध स्कूल खोलने पर मद्देनजर शिक्षा विभाग ने अब कार्रवाई का फैसला किया है।

विभाग की ओर से मंगलवार को सभी स्कूलों में विभिन्न टीमें भिजवाकर इसकी जांच करवाई जाएगी। हर ब्लाक के लिए जिला शिक्षा अधिकारी ने सभी बीईओ से इसकी रिपोर्ट भी तलब कर ली है। विभाग की ओर से आदेश का पालन नहीं करने वाले स्कूलों को नोटिस दिए जाएंगे।

इसके बाद भी यदि आदेश की अवहेलना होती है तो उसकी रिपोर्ट निदेशालय में आगामी कार्रवाई के लिए भेजी जाएगी। वहीं, गन्नौर में हुसा एसोसिएशन की बैठक कर कोरोना की वजय से पहली से आठवीं कक्षा तक स्कूल बंद किए जाने से प्राइवेट स्कूल संचालकों ने सरकार के प्रति रोष जताया।

सोमवार को कुछ ऐसी रही स्थिति

सोमवार को शहर के कई स्कूल खुले और विद्यार्थी कक्षाओं में भी पहुंचे। स्कूल आते समय जहां विद्यार्थियों के चेहरे पर मास्क था, लेकिन वापसी में मास्क बस्ते में था और तेज गर्मी से बचाव के लिए सिर पर रूमाल। पूछताछ में पता लगा कि विद्यार्थियों के पास न तो सेनेटाइजर था और ना ही पीने के पानी की घर से लाई बोतल।

शहर में मुख्य रूप से ओल्ड डीसी रोड, पंचम नगर, नरेन्द्र नगर, कबीरपुर, देवडू रोड, आईटीआई चौक, ककरोई रोड आदि क्षेत्र में विभिन्न स्कूल खोले गए। खुद शिक्षा विभाग के अधिकारियों के पास स्कूल खुले होने की सूचना है। सोमवार को शहर के इस बाबत पूछे जाने पर कहा गया कि मंगलवार से कक्षाएं नहीं लगाई जाएगी।

आईटीआई : शिक्षा को लेकर अभी कोई नई गाइडलाइन नहीं, आज करवाए जाएंगे टेस्ट

स्कूलों में जहां अभी कोरोना की महज आशंका है, लेकिन आईटीआई में यह दस्तक दे चुका है। सोनीपत आईटीआई में दो स्टाफ मेंबर व एक विद्यार्थी जहां संक्रमित मिले हैं वहीं, गन्नौर में 20 संक्रमित पाए हैं। मंगलवार को सभी का टेस्ट करवाया जाएगा।

कोचिंग सेंटर संचालक विरोध में उतरे

शहर में कोचिंग सेंटर संचालक कोरोना को लेकर कक्षाएं नहीं लगाने के निर्देशों के विरोध में उतर आए हैं। उन्होंने सोशल मीडिया में बयान जारी कर इस पर आपत्ति जताते हुए कहा है कि शिक्षा व्यवस्था इससे बिगड़ेगी।

स्कूल खुले जाने की सूचना मिली है। इस संदर्भ में सभी बीईओ से रिपोर्ट मांगी गई है। नियमों की अवहेलना करने वाले स्कूलों के कार्रवाई की जाएगी। इसको लेकर निरीक्षण भी किया जाएगा। कोरोना संक्रमण को देखते यह फैसला सरकार ने लिया है। बिजेन्द्र नरवाल, डीईओ, सोनीपत।

बढ़ते कोरोना केस को देखते हुए हम सरकार के साथ हैं, इसलिए स्कूल बंद के खिलाफ अभी हमारा कोई प्रदर्शन नहीं है। हम सभी अभी सरकार से की अपील कर रहे हैं कि कक्षा चौथी से 12वीं तक के स्कूल खोले जाएं। –अजमेर सिंह, जिला प्रधान, हरियाणा संयुक्त विद्यालय संघ।

Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *