28 thousand students of 382 schools of 12th will pass without examination

विद्यार्थियों को बड़ी राहत मिली:12वीं के 382 स्कूलों के 28 हजार विद्यार्थी होंगे बिना परीक्षा पास

ब्रेकिंग न्यूज़ विशेष शिक्षा सोनीपत

कोरोना संक्रमण के चलते सीबीएसई के बाद अब हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के अंतर्गत पढ़ रहे सोनीपत के करीब साढ़े 17 हजार विद्यार्थियों को बड़ी राहत मिली है। अब उन्हें कोरोना के दौरान परीक्षा के तनाव का सामना नहीं करना होगा, उन्हें बिना परीक्षा दिए ही अगली कक्षा में प्रमोट किया जाएगा। इससे पूर्व सीबीएसई की ओर से भी परीक्षाएं नहीं करवाने के फैसले से सोनीपत के करीब 11 हजार विद्यार्थियों को राहत मिली थी। हालांकि अब बोर्ड की ओर से जारी सर्कुलर में कहा गया है कि विद्यार्थियों के मूल्यांकन के लिए ऑब्जेक्टिव सवाल पूछे जा सकते हैं।

कोरोना संक्रमण के बढ़ने के कारण सरकार की ओर से परीक्षाएं रद्द करने का असर सोनीपत में हरियाणा बोर्ड से संबंधित 277 स्कूलों तथा सीबीएसई से 105 स्कूलों के विद्यार्थियों पर पड़ेगा और बिना परीक्षा की बाधा के ही विद्यार्थी कॉलेज ज्वाइन के लिए हकदार बन जाएंगे। दसवीं की तरह इसमें ये भी रहेगा कि जो विद्यार्थी अंकों से संतुष्ट नहीं है, उनके लिए स्थिति सामान्य पर परीक्षा का भी एक विकल्प रखा गया है। फिलहाल विद्यार्थियों को कॉलेजों में दाखिला कैसे मिलेगा, इस बारे में गाइडलाइन अभी आनी है।

अभी दसवीं का रिजल्ट हो रहा है तैयार

साउथ प्वाइंट स्कूल के चेयरमैन दिलबाग सिंह खत्री ने बताया कि बोर्ड की ओर से जारी निर्देश के तहत दसवीं के विद्यार्थियों का रिकार्ड बनाकर भेजा गया है। वहीं दूसरी ओर जी थ्री स्कूल की प्रिंसिपल ने बताया कि जब तक परिणाम अधिकृत रूप से घोषित नहीं होता तब तक विद्यार्थियों को प्रोविजनल आधार पर कक्षाएं दिलाई जा रही है।

अधिकारी अंक निर्धारण का मापदंड बनाने में जुटे

डिप्टी डीईओ नवीन गुलिया ने बताया कि विद्यार्थियों की पास प्रतिशतता कैसे बनेगी, यह अभी गाइडलाइन आने पर ही पता लग सकेगा। इसके लिए विभिन्न शिक्षाविद एवं अधिकारी अंक निर्धारण का मापदंड बनाने में जुट गए हैं। इसके लिए देखा जा रहा है कि इंटरनल असेसमेंट के आधार पर अगली कक्षा में प्रमोट किया जाए या फिर किसी दूसरी पद्धति के आधार पर होगा, यह गाइडलाइन जारी होने पर ही स्पष्ट होगा। हालांकि अगर कोई विद्यार्थी अंकों से संतुष्ट नहीं होता है तो उनके लिए परीक्षा का भी विकल्प रहेगा, लेकिन वह कोरोना संक्रमण काल की स्थिति सामान्य होने पर ही हो सकती है।

Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *