school-reopen

11 महीनों के बाद प्राइमरी के बच्चे पहुंचे स्कूल, 30 प्रतिशत रही उपस्थिति

शिक्षा सोनीपत

सोनीपत : कोरोना संक्रमण की वजह 11 माह से बंद स्कूलों में रौनक लौटने लगी है। बुधवार को तीसरी से पांचवीं कक्षा के तक के विद्यार्थी स्कूल पहुंचे। हालांकि पहले दिन विद्यार्थियों की उपस्थिति लगभग 30 प्रतिशत के आसपास रही। इस दौरान सभी स्कूलों में कोरोना से बचाव के नियमों का पालन किया गया। जो विद्यार्थी मास्क पहनकर नहीं आए थे, उन्हें स्कूल के प्रवेश द्वार पर मास्क दिया गया। अधिकांश स्कूलों में प्रवेश के दौरान सभी की थर्मल स्कैनिग भी की गई और हाथों को सैनिटाइजर से साफ करवाया गया। कक्षाओं में भी शारीरिक दूरी के बनाए रखने पर फोकस किया गया।

सरकार ने शैक्षणिक गतिविधियों को दोबारा पटरी पर लाने के लिए अक्टूबर माह में नौवीं से 12वीं कक्षा तक स्कूल खोले गए। उसके बाद एक फरवरी से छठी से आठवीं तक की कक्षाएं लगाने का निर्णय लिया गया था। साथ ही निर्देश दिए थे कि स्कूलों में कोरोना नियमों का पालन किया जाए। व्यवस्थाएं दुरुस्त मिलने के बाद अब शिक्षा विभाग ने बुधवार से तीसरी से पांचवीं तक की कक्षाओं को भी लगाना शुरू कर दिया है। तीन घंटे तक लगीं कक्षाएं :

शिक्षा विभाग द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार बुधवार को तीसरी से पांचवीं तक की कक्षाएं सुबह दस बजे से लेकर दोपहर एक बजे तक लगी। इस दौरान कक्षा में जो विद्यार्थी नही पहुंचे थे, उन विद्यार्थियों के स्वजन को भी फोन के माध्यम से स्कूल खुलने की जानकारी दी गई। स्कूल प्रशासन ने अभिभावकों का आह्वान किया कि वे अधिक से अधिक संख्या में विद्यार्थियों को स्कूलों में भेजें। हालांकि अभी आनलाइन कक्षाएं भी जारी रहेगी। शिव शिक्षा सदन स्कूल में दो शिफ्ट में लगी कक्षा :

सरकारी स्कूलों के साथ-साथ निजी स्कूलों में भी बुधवार को कक्षा तीसरे से लेकर पांचवी तक के विद्यार्थी पढ़ने के लिए पहुंचे। शहर के शिवा शिक्षा सदन स्कूल में पहले दिन इन कक्षाओं के करीब 85 प्रतिशत विद्यार्थी पहुंचे। इस दौरान प्रत्येक विद्यार्थी की गेट पर ही थर्मल स्कैनिंग की गई। इसके अतिरिक्त एक कमरे में सिर्फ 20 विद्यार्थियों को ही बैठाया गया। स्कूल में दो शिफ्टों में विद्यार्थियों को बुलाया गया। इस दौरान स्कूल प्रबंधन ने विद्यार्थियों और उनके अभिभावकों का आह्वान किया कि वे कोरोना संक्रमण को लेकर जारी की गई गाइडलाइन का पालन करें। स्कूल के अध्यापकों को सख्त निर्देश दिए गए कि किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए। बुधवार को स्कूल में तीसरी कक्षा से लेकर पांचवीं कक्षा के 900 विद्यार्थियों में से 768 विद्यार्थी स्कूल में पहुंचे।

जिले के सभी राजकीय व गैर राजकीय स्कूलों में बुधवार को पहले दिन करीब 30 प्रतिशत बच्चे स्कूलों में पहुंचे। स्कूलों में कोरोना संक्रमण को लेकर जारी की गई गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन किया गया है। विद्यार्थियों की पढ़ाई बेहतर ढंग से हो सके, इसके लिए विभाग की तरफ से कारगर कदम उठाए जा रहे हैं।

– जोगेंद्र सिंह हुड्डा, जिला शिक्षा अधिकारी, सोनीपत।

Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *