किसान आंदोलन को लेकर प्रशासन अलर्ट, बार्डर सील

दिल्ली एनसीआर सोनीपत

सोनीपत : किसानों के बृहस्पतिवार को दिल्ली कूच को लेकर प्रशासन अलर्ट है। विभिन्न किसान यूनियनों ने दिल्ली कूच से पहले किसानों को राई के एजुकेशन सिटी में एकत्रित होने का आह्वान किया है। प्रशासन ने कानून-व्यवस्था और कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए किसानों के एक जगह एकत्रित होने पर रोक लगाते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए हैं। प्रशासन ने जिले की सभी अंतरराज्यीय सीमाओं को सील करते हुए विशेष नाके लगाए हैं। साथ ही आम लोगों को भी बहुत आवश्यक होने पर ही राष्ट्रीय राजमार्ग-44 से यात्रा करने की सलाह दी है। विशेष परिस्थिति में आवागमन करने वालों के लिए वैकल्पिक मार्ग भी तय किए जा रहे हैं।

पायुक्त श्याम लाल पूनिया ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-44 उत्तर भारत की लाइफ लाइन है। किसानों के दिल्ली कूच के दौरान इस मार्ग के अवरुद्ध किए जाने की आशंका है। इसके मद्देनजर प्रशासन की ओर से एहतियातन कई कदम उठाए गए हैं। इसको लेकर पत्रकारों से बातचीत करते हुए उपायुक्त ने बताया कि आम जनमानस को कोई परेशानी हुई तो सख्त कदम उठाए जाएंगे। किसी भी रूप में शांति भंग करने का प्रयास नहीं किया जाए। साथ ही उन्होंने कोविड-19 को लेकर भी जारी दिशा-निर्देशों की अनुपालना करने की अपील की। पुलिस अधीक्षक जशनदीप सिंह रंधावा ने बताया कि अंतरराज्यीय बार्डरों को सील किया गया है। अंतर जिला बार्डरों पर भी विशेष रूप से नाका लगाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि बिना अनुमति के कहीं भीड़ एकत्रित हुई तो कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। जरूरत हुई तो गिरफ्तारी भी होगी। उन्होंने कहा कि पर्याप्त संख्या में राष्ट्रीय राजमार्ग पर पुलिस की तैनाती की जा रही है, जिसके लिए बाहर से भी पुलिस बल बुलाए जा रहे हैं। इस मौके पर खरखौदा की एसडीएम श्वेता सुहाग भी मौजूद थी। प्रशासन ने जारी की ट्रेवल एडवाइजरी :

उपायुक्त ने आम लोगों से भी अपील की है कि वे 25, 26 व 27 नवंबर को राष्ट्रीय राजमार्ग से यात्रा करने से परहेज करें। यदि बहुत जरूरी हो तो ही यात्रा करें। पुलिस अधीक्षक रंधावा ने कहा कि आमजन की सुविधा के लिए ट्रैफिक डायवर्जन प्लान भी तैयार किया गया है। उपायुक्त ने यात्रियों की सुविधा के लिए एक ट्रेवल एडवाइजरी जारी की है। उन्होंने बताया कि किसान आंदोलन को देखते हुए 25 व 26 नवंबर को सड़क द्वारा जिला में प्रवेश करने वाले स्थानों तथा 26 व 27 नवंबर को जिले से दिल्ली में प्रवेश करने वाले स्थानों पर यातायात अवरोधों का सामना करना पड़ सकता है। सभी नागरिकों को पुलिस विभाग द्वारा की जा रही व्यवस्थाओं के बारे में सूचित किया जा रहा है ताकि वे किसी भी असुविधा से बच सकें। डीसी व एसपी ने एनएच-44 का किया दौरा :

पायुक्त व पुलिस अधीक्षक ने मंगलवार को हलदाना बार्डर से लेकर कुंडली बार्डर तक राष्ट्रीय राजमार्ग-44 का दौरा करते हुए पुलिस अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने विशेष रूप से ट्रैफिक डायवर्जन तथा राष्ट्रीय राजमार्ग के सुचारू संचालन और किसानों को ठहराये जाने को लेकर विस्तार से पड़ताल की। निरीक्षण के दौरान अंतरराष्ट्रीय बागवानी मार्केट में आवश्यकता पड़ने पर मार्केट परिसर में किसानों को ठहराने को लेकर भी विचार-विमर्श किया गया। इसके अलावा राजीव गांधी एजुकेशन सिटी और उससे आगे एक फैक्ट्री का भी निरीक्षण करते हुए विशेष स्थिति में किसानों को यहां रखने और वाहनों की पार्किंग को लेकर भी चर्चा की। इस मौके पर एएसपी निकिता खट्टर, डीएसपी विरेंद्र सिंह, डीएसपी जोगेंद्र सिंह, इंसपेक्टर वजीर सिंह, इंसपेक्टर रमेशचंद्र, इंसपेक्टर राजीव आदि पुलिस अधिकारी मौजूद थे। दो किसान नेता गिरफ्तार

Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *