इंटरनेट बंद होने से करोड़ों का व्यापार ठप

टैकनोलजी ब्रेकिंग न्यूज़ विशेष सोनीपत

सोनीपत। गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर परेड में दिल्ली में हुए उपद्रव के बाद जिले में इंटरनेट सेवाएं पूरी तरह से ठप कर दी गई है। इससे व्यापार, स्वास्थ्य, शिक्षा सहित सभी क्षेत्रों में किए जाने वाले ऑनलाइन कार्य ठप हो गए हैं। इंटरनेट बंद होने के कारण करोड़ों रुपये का व्यापार ठप हो गया। व्यापारियों के ईवे बिल जेनरेट तक नहीं हो रहे। जीएसटी भरने में व्यापारियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं सरकारी अस्पतालों में ई-संजीवनी एप बंद होने के कारण लोगों की परेशानी ज्यादा बढ़ गई है। ई-उपचार नहीं मिलने के कारण मरीज अस्पताल में जाकर उपचार करने के लिए मजबूर हैं। वहीं सामान की खरीददारी के बाद ऑनलाइन पेमेंट तक नहीं हो रही और न ही ऑनलाइन बिल कट रहे। वहीं अटल सेवा केंद्रों पर भी किसी भी तरह के प्रमाण पत्र नहीं बन रहा। लोग कार्यालयों के चक्कर काटने को मजबूर हैं

दिल्ली में गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्रैक्टर परेड के दौरान हुए उपद्रव के बाद सरकार ने दिल्ली एनसीआर में इंटरनेट पर रोक लगा रखी है। एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी इंटरनेट सेवाएं अभी तक बहाल नहीं हो पाई है। ऐसे में लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इंटरनेट बंद होने के कारण करोड़ों रुपये का व्यापार ठप पड़ हुआ है। व्यापारियों के अधिकतर कार्य इंटरनेट से ही होते थे। व्यापारी जीएसटी भरने में कामयाब नहीं हो रहे। ऐसे में सेल्स टैक्स विभाग को एक सप्ताह से लगातार करोड़ों रुपये का चूना लग रहा है।

मरीज ई-उपचार का लाभ उठाने में असमर्थ
प्रदेश सरकार की ओर से मरीजों की सुविधा के लिए दो माह पहले ई-संजीवनी एप शुरू की गई थी। ई-संजीवनी एप के माध्यम से स्वास्थ्य विभाग ने सभी सरकारी चिकित्सकों को जोड़ रखा है। लेकिन इंटरनेट सेवाएं बंद होने से ई-संजीवनी एप ठप पड़ी है। ऐसे में मरीज ई-संजीवनी एप से ई-उपचार का लाभ उठाने में असमर्थ हैं। वहीं सरकारी अस्पतालों में कार्यरत चिकित्सक भी ई-संजीवनी एप पर अपनी सेवाएं नहीं दे पा रहे हैं। सरकार की ओर से खोले गए अटल सेवा केंद्रों पर ऑनलाइन प्रमाण पत्र नहीं बन रहे। ऐसे में प्रमाण पत्र बनवाने के लिए अटल सेवा केंद्रों पर आने वाले लोगों की परेशानी बढ़ रही है।

हिंदू कॉलेज में आज से लगेंगी कक्षाएं, विद्यार्थियों को सूचना दी

इंटरनेट सेवाएं बंद होने के कारण विद्यार्थियों की ऑनलाइन कक्षाएं नहीं चल पा रही हैं। ऐसे में हिंदू कॉलेज के प्राचार्य डॉ. बीके गर्ग ने कॉलेज प्रबंधन समिति के सदस्यों के साथ बैठक करके कॉलेज में बुधवार से सुबह 10 बजे से दोपहर बाद 1.20 बजे तक कक्षाएं लगाने का निर्णय लिया है। विज्ञान संकाय की द्वितीय व तृतीय वर्ष के विद्यार्थियों की कक्षाएं सोमवार व मंगलवार व सप्ताह में बाकी चार दिन प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों की कक्षाएं लगेंगी। वाणिज्य, कला संकाय और पीजी के प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों के लिए सप्ताह में पहले चार दिन और द्वितीय व तृतीय वर्ष के विद्यार्थियों के लिए शुक्रवार व शनिवार को कक्षाएं लगेंगी। विद्यार्थियों के लिए एसओपी का पालन करते हुए मास्क अनिवार्य है। सभी विद्यार्थी अपने अभिभावक का सहमति पत्र भी साथ लेकर आएंगे।

इंटरनेट सेवाएं बंद होने की वजह से ऑनलाइन मंगाया जाने वाले सामान भी नहीं आ रहा। ऑनलाइन पेमेंट भी नहीं हो रही है। ऐसे में व्यापारियों को नुकसान उठाना पड़ रहा है। सरकार की ओर से दोबारा से इंटरनेट सेवाओं को बहाल कर देना चाहिए।

  • सुनील कुमार, जूता व्यापारी
    इंटरनेट सेवाएं बंद होने के कारण सेटअप बॉक्स भी रिचार्ज नहीं हो पा रहे हैं। लोगों को टीवी चैनल देखने में परेशानी हो रही है। यहां तक की केबल नेटवर्क संचालकों को ऑनलाइन पेमेंट भी नहीं हो रही। ऐसे में उन्हें एक सप्ताह से लगातार परेशानी का सामना करना पड़ है।
  • फूलकंवार चौहान, केबल नेटवर्क संचालक
    इंटरनेट सेवाएं बंद होने के कारण व्यापार आधा हो गया है। ऑनलाइन पेमेंट तक नहीं हो रही और न ही ऑनलाइन सामान भेजा रहा है। ऐसे में व्यापारियों को लगातार नुकसान हो रहा है।
  • रोहित, जूता व्यापारी
    सरकार ने डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा दिया। अब किसान आंदोलन की वजह से इंटरनेट सेवाओं को बंद करके डिजिटल सेवाएं बंद कर दी गई हैं। ऐसे में व्यापारियों को नुकसान उठाना पड़ रहा है। पहले ही व्यापारी लॉकडाउन के दौरान हुए नुकसान से उबर नहीं पाए हैं।
  • जोगिंद्र, कपड़ा व्यापारी
    सरकार की ओर से इंटरनेट सेवाओं को बहाल कर देना चाहिए। जिले में रोजाना व्यापार में करोड़ों रुपये का नुकसान हो रहा है। ईवे बिल भी जेनरेट नहीं हो रहे और न ही जीएसटी भी नहीं दी जा रही।
  • संजय सिंगला, जिला प्रधान व्यापार मंडल

Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *